Home ट्रेंडिंग अब कैलीफोर्निया में भी लगेगा जातिवाद पर बैन, जल्द बनने वाला है...

अब कैलीफोर्निया में भी लगेगा जातिवाद पर बैन, जल्द बनने वाला है एंटी-कास्ट कानून

जल्द ही अमेरिका के कैलीफोर्निया प्रांत में एंटी कास्ट लॉ बन सकता है जिसके बाद जाति के आधार पर किसी से भी भेदभाव करना गैर-कानूनी घोषित हो जाएगा।  

1224
0
blank
www.theshudra.com

भारत से सवर्ण दुनिया के जिस भी हिस्से में गए, वहां जाति की बीमारी साथ ले गए लेकिन अब पूरी दुनिया जाति के इस वायरस को खत्म करने के लिए एकजुट हो रही है। अमेरिका के सिएटल शहर में जाति के आधार पर भेदभाव करने पर पाबंदी लगने के बाद अब अमेरिका के कैलीफोर्निया राज्य में जातिवाद के खिलाफ कानून बनाने की तैयारी हो रही है। जल्द ही अमेरिका के कैलीफोर्निया प्रांत में एंटी कास्ट लॉ बन सकता है जिसके बाद जाति के आधार पर किसी से भी भेदभाव करना गैर-कानूनी घोषित हो जाएगा।  

क्या है पूरी खबर ?

दरअअसल कैलीफोर्निया स्टेट सीनेटर आयशा वहाब ने राज्य की विधानसभा में एंटी कास्ट बिल पेश किया है। बुधवार को पेश किए गए इस बिल में जाति के आधार पर भेदभाव को गैर-कानूनी घोषित करने की मांग की गई है। इस कानून में नस्ल, जेंडर और फिज़िकल डिसेबिलिटी आदि की तरह जाति को भी प्रोटेक्टेड कैटेगरी में शामिल करने का प्रावधान है। यानी जैसे अमेरिका में नस्ल के आधार पर ब्लैक्स के साथ भेदभाव करना दंडनीय अपराध है, वैसे ही अब जाति के आधार पर भेदभाव करना भी गैर-कानूनी हो सकता है।

अगर ये बिल पास हो गया तो कैलीफोर्निया यूनाइटेड स्टेट्स ऑफ अमेरिका का पहला राज्य होगा जहां कास्ट बेस्ड डिस्क्रिमिनेशन पर बैन होगा। इससे पहले अमेरिका के सिएटल शहर में भी एंटी कास्ट बिल पास हो चुका है। आयशा वहाब अफगानी मूल की पहली अमेरिकी सांसद हैं। आयशा का कहना है कि उन्होंने ‘अपने आसपास लोगों को जातिवाद का शिकार होते हुए देखा है। अमेरिका आने वाले साउथ एशियन लोग जाति अपने साथ ले आते हैं और इससे कई समस्याएं उत्पन्न होती हैं। हम बस यहां रहने वाले लोगों के लिए अमेरिका को और अधिक सुरक्षित बनाना चाहते हैं’

अमेरिका में बसे आंबेडकरवादी भी साथ हैं 

अमेरिका में बसे आंबेडकरवादी और एंटी कास्ट एक्टिविस्ट आयशा वहाब के साथ मिलकर काम कर रहे हैं। इक्वैलिटी लैब की थेनमोई सुंदराजन का कहना है कि अगर ये कानून पास हो जाएगा तो अमेरिका में जातिवाद के खिलाफ लड़ाई में बड़ी कामयाबी मिलेगी। 

अमेरिका में बढ़ता जातिवाद 

मेरिका में जातिवाद के कई मामले सामने आ चुके हैं। इससे पहले सिस्को केस ने सभी का ध्यान खींचा था जहां सीनियर सवर्ण भारतीय अधिकारियों पर जूनियर दलित कर्मचारी के साथ भेदभाव करने का गंभीर मामला सामने आया था। लगातार बढ़ते कास्ट बेस्ड डिस्क्रिमिनेशन के कारण अब अमेरिका की सोसाइटी में कास्ट को लेकर जागरूकता बढ़ी है और अब वहां एंटी कास्ट कानून बनाने की मांग तेज़ हो गई है।

अमेरिका की 24 यूनिवर्सिटी भी अपने यहां जाति के आधार पर भेदभाव करने को अपराध घोषित कर चुकी हैं। एप्पल जैसी बड़ी कंपनी ने भी अपनी HR पॉलिसी में कास्ट से जुड़े मसलों को शामिल किया है। अमेरिका की सिएटल सिटी काउंसिल भी कास्ट डिस्क्रिमिनेशन को बैन कर चुकी है। तब भारतीय मूल की क्षमा सांवत ने हाउस में बिल पेश किया था। बिल पास होने के बाद सिएटल अमेरिका का पहला शहर बन गया था जिसने जाति के खिलाफ कानून बनाया था। हमसे बातचीत में तब क्षमा ने भी बताया था कि कैसे अमेरिका में रहने वाले सवर्ण भारतीय दलित बैकग्राउंड से आने वाले लोगों के साथ जाति भेद करते हैं।

अमेरिका में रहने वाले भारतीय अलग-अलग तरीकों से लोगों की जाति पता करने की कोशिश करते हैं। अमेरिका में काम करने वाले आंबेडकर इंटरनेशनल सेंटर के अध्यक्ष राम कुमार ने इस बारे में दिलचस्प जानकारी साझा करते हुए बताया था कि सवर्ण भारतीय यहां अलग-अलग तरीकों से जाति पता करने की कोशिश करते हैं।

 

जब सिएटल में एंटी कास्ट बिल पास हुआ था तब क्षमा सांवत और उनके सहयोगियों ने कहा था ’Now Seattle, then the Nation, Ban Caste Based Discrimination’ अब ये नारा पूरे अमेरिका में जाति के खिलाफ चल रहे आंबेडकरवादियों के आंदोलन को आगे बढ़ाने वाला है। सिएटल ने जिसकी शुरुआत की थी अब कैलीफोर्निया उसे आगे बढ़ाने जा रहा है। बहुत उम्मीद है कि कैलीफोर्निया स्टेट असेंबली में आयशा वहाब का ये एंटी कास्ट बिल पास हो जाएगा और कैलीफोर्निया में जाति के आधार पर भेदभाव करने पर पूरी तरह से पाबंदी लग जाएगी।

वो दिन दूर नहीं जब अमेरिका में भी जातिवाद करने वालों की खैर नहीं होगी। बाबा साहब डॉ आंबेडकर ने भविष्यवाणी की थी ‘भारत के सवर्ण दुनिया में जहां भी जाएँगे, वो जाति की बीमारी को साथ ले जाएंगे और फिर जाति एक वैश्विक समस्या बन जाएगी’ उनकी ये भविष्यवाणी सच साबित हुई और जातिवादियों ने जाति का ये वायरस पूरी दुनिया में फैला दिया लेकिन अब दुनिया भर में बसे आंबेडकरवादी कास्ट नाम के वायरस की वैक्सीन तैयार कर रहे हैं। इस बारे में आपका क्या कहना ?

  telegram-follow   joinwhatsapp     YouTube-Subscribe

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here