Home वीडियो यूपी चुनाव : मायावती ने नहीं ली हार की जिम्मेदारी, इन लोगों...

यूपी चुनाव : मायावती ने नहीं ली हार की जिम्मेदारी, इन लोगों के सिर फोड़ा हार का ठिकरा

मायावती ने बसपा की दुर्गति की जिम्मेदारी ना ही खुद ली और ना ही पार्टी के नेताओं को जिम्मेदार ठहराया।

305
0
blank
Photo - Satish Chandra Mishra

यूपी चुनाव में करारी शिकस्त पाने वाली बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने यूपी चुनाव परिणाम पर अपनी पहली प्रतिक्रिया दी। मायावती ने लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर हार पर अपना पक्ष रखा। मायावती ने कहा कि दुख की बात है कि नतीजे हमारे मन मुताबिक नहीं आए।

मुसलमानों की भूल से हुआ बड़ा नुकसान – मायावती

मायावती ने बीएसपी की इतनी बुरी हार की वजह मुसलमानों के वोट नहीं मिलने को बताया। उन्होंने कहा कि ‘मुसलमानों ने कई बार की आजमाई हुई बसपा की जगह सपा पर भरोसा जताया और पूरा वोट सपा की तरफ शिफ्ट कर दिया जिसका नुकसान बसपा को हुआ। हमने मुसलमानों पर भरोसा किया लेकिन वोट नहीं मिले। हमारे लिए ये कड़वा अनुभव और सीख लेने वाला है’

बीजेपी ने दुष्प्रचार किया – मायावती 

मायावती ने कहा कि यूपी चुनाव में बीजेपी की ओर से मीडिया और सोशल मीडिया के जरिए बीएसपी के बारे में जबरदस्त दुष्प्रचार किया गया। उन्होंने कहा ‘बीजेपी ने मीडिया और सोशल मीडिया के जरिए झूठा प्रचार किया कि बसपा असल में भाजपा की बी टीम है और बसपा मजबूती से चुनाव नहीं लड़ रही। इससे मतदाताओं के बीच में गलत संदेश गया’

मेरे समाज के अलावा वोट नहीं मिले – मायावती 

मायावती ने बसपा के वोट शेयर में करीब 10 % की गिरावट पर कहा कि ‘मेरे अपने समाज के अलावा बाकी जातियों के वोट नहीं मिले। मूवमेंट के लिए अच्छी बात ये रही कि मेरे अपने समाज के लोग हमेशा की तरह साथ बने रहे लेकिन बाकी वोट नहीं मिले।’

नाउम्मीद होने की जरूरत नहीं – मायावती 

मायावती ने अपने समर्थकों का हौसला बढ़ाने के मकसद से कहा ‘ऐसे बुरे हालात से बीजेपी भी गुजर चुकी है। आज़ादी के बाद लंबे समय तक बीजेपी सत्ता से बाहर रही लेकिन बाद में सत्ता हासिल की। कांग्रेस के साथ भी ऐसा हो चुका है लेकिन सत्ता में वापसी हुई, अभी भी कांग्रेस ऐसे हालात से गुजर रही है। इसलिए परेशान होने की जरूरत नहीं है। मेहनत करते रहना है’

सफलता झक मारकर आपके कदम चूमेगी – मायावती 

मायावती ने बसपा की दुर्गति की जिम्मेदारी ना ही खुद ली और ना ही पार्टी के नेताओं को जिम्मेदार ठहराया। इसके उलट उन्होंने बसपा कार्यकर्ताओं से संघर्ष करते रहने की अपील करते हुए बाबा साहब के नाम का सहारा लिया। उन्होंने कहा ‘बाबा साहब के अनुयायी कभी हार नहीं मानते, वो हमेशा संघर्ष करते रहते हैं। आपको भी पत्थर काटकर रास्ता बनाना है। सफलता झक मारकर हमारे कदम जरूर चूमेगी’

सिर्फ एक सीट ही जीत पाई है बसपा

आपको बता दें कि यूपी चुनाव में इस बार बसपा सिर्फ एक सीट ही जीत पाई है। बलिया की रसड़ा सीट से उमाशंकर सिंह बसपा के इकलौते विधायक बने हैं। बसपा के वोट शेयर में भी जबरदस्त गिरावट दर्ज की गई है यानी बसपा अपना वोट बैंक भी नहीं बचा पाई।

  telegram-follow   joinwhatsapp     YouTube-Subscribe

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here