Home वीडियो यूपी चुनाव : मायावती ने आधी रात में किया बड़ा उलटफेर, इन...

यूपी चुनाव : मायावती ने आधी रात में किया बड़ा उलटफेर, इन पार्टियों के नेताओं को BSP में शामिल किया

बसपा ने उन्हें अपना उम्मीदवार भी घोषित कर दिया है। इसका एलान ख़ुद मायावती ने किया।

96
0
blank
Photo - Satish Chandra Mishra

यूपी में जैसेजैसे चुनाव की तारीख़ें नज़दीक आती जा रही हैं, वैसे-वैसे नेताओं का इधर-उधर जाना तेज़ हो गया है। पहले बीजेपी में टूट हुई और अब कांग्रेस और लोकदल के नेताओं ने भी चुनाव से पहले पार्टी बदल ली है। इस बार बीएसपी ने कांग्रेस और लोकदल को बड़ा झटका दिया है। कांग्रेस के सलमान सईद और लोकदल के नोमान मसूद ने बीएसपी अध्यक्ष मायावती से मुलाक़ात कर पार्टी छोड़ने का एलान कर दिया। यही नहीं, बसपा ने उन्हें अपना उम्मीदवार भी घोषित कर दिया है। इसका एलान ख़ुद मायावती ने किया।

मायावती ने इस बारे में दो ट्वीट किए। उन्होंने पहले ट्वीट में लिखामुजफ्फरनगर जिले के यूपी के पूर्व गृहमंत्री रहे श्री सईदुज़्ज़माँ के बेटे श्री सलमान सईद ने कल दिनांक 12 जनवरी को बीएसपी प्रमुख से देर रात मुलाकात की कांग्रेस छोड़कर बहुजन समाज पार्टी में शामिल हो गए। श्री सईद को बीएसपी ने चरथावल विधानसभा की सीट से अपना उम्मीदवार बनाया है।’

मायावती से मिलने के बाद पार्टी दफ्तर के बाहर नोमान मसूद और उनके समर्थक

गंगोह सीट से उम्मीदवार होंगे नोमान मसूद

‘इनके साथ ही, सहारनपुर जिले के पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री रशीद मसूद के भतीजे श्री इमरान मसूद के सगे भाई श्री नोमान मसूद भी कल लोकदल छोडकर, बहुजन समाज पार्टी में शामिल हो गए। बीएसपी प्रमुख ने इनको गंगोह विधानसभा की सीट से अपनी पार्टी का उम्मीदवार भी बनाया है।’

यानी सलमान सईद को बीएसपी ने चरथावल विधानसभा की सीट से अपना उम्मीदवार बनाया है तो नोमान मसूद गंगोह विधानसभा की सीट से हाथी के निशान पर चुनाव लड़ेंगे। 

बीएसपी भी बाक़ी दलों की तरह चुनाव से पहले अपना कुनबा बढ़ा रही है और इसी कड़ी में आए दिन कई नेता बसपा में शामिल हो रहे हैं। बीएसपी इस बार अकेले ही अपने दम पर सरकार बनाना चाहती है और किसी दल के साथ गठबंधन नहीं किया है। वहीं समाजवादी पार्टी छोटे-बड़े दलों के साथ चुनावी गठबंधन कर किसी भी क़ीमत पर सत्ता हासिल करना चाहती है। सपा और बसपा के इस आक्रामक रुख़ से बीजेपी की नींद उड़ी हुई है।

योगी आदित्यनाथ की कैबिनेट से स्वामी प्रसाद मौर्य और दारा सिंह चौहान इस्तीफ़ा दे चुके हैं, इनके अलावा और बीजेपी के कई और विधायक सपा का दामन थाम चुके हैं। ऐसे में योगी आदित्यनाथ की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। कुल मिलाकर यूपी में सियासी पारा चढ़ता ही जा रहा है और आने वाले दिनों में इस तरह की अदला-बदली देखने को मिलती रहेगी। 

ब्यूरो रिपोर्ट, द न्यूज़बीक 

  telegram-follow   joinwhatsapp     YouTube-Subscribe

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here