Home वीडियो उत्तराखंड में जातिवाद चरम पर, दलित मजदूर ने बंधुआ मजदूरी से मना...

उत्तराखंड में जातिवाद चरम पर, दलित मजदूर ने बंधुआ मजदूरी से मना किया तो सवर्ण जातिवादी ने मारा चाकू

विजय का आरोप है कि उनके गाँव के ही जातिवादी सवर्ण सुंदर रावल ने उन्हें इसलिए चाकू मार दिया क्योंकि उन्होंने बँधुआ मज़दूरी से इनकार कर दिया था।

357
0
blank
पीड़ित विजय कोहली (फोटो - कार्तिक टमटा)

पिथौरागढ़ : उत्तराखंड के पिथौरागढ़ ज़िले के विषाण पट्टी गाँव में विजय कोहली नाम के दलित मजदूर पर जानलेवा हमला हुआ है। विजय का आरोप है कि उनके गाँव के ही जातिवादी सवर्ण सुंदर रावल ने उन्हें इसलिए चाकू मार दिया क्योंकि उन्होंने बँधुआ मज़दूरी से इनकार कर दिया था। पेशे से वाहन चालक का काम करने वाले विजय के मुताबिक़ आरोपी सुंदर रावल इसलिए भड़क गया था क्योंकि उसने सुंदर की गाड़ी चलाने से मना कर दिया था।

पुलिस ने केस दर्ज किया लेकिन गिरफ्तारी नहीं

भीम आर्मी उत्तराखंड के कार्यकर्ताओं ने इस मामले में हस्तक्षेप किया जिसके बाद पुलिस ने IPC और SC-ST एक्ट की धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है लेकिन खबर पब्लिश किए जाने तक आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हो पाई थी।

जातिवादियों पर हो सख्त कार्रवाई 

अपनी खूबसूरत वादियों के कारण उत्तराखंड जितना मशहूर है, उतना ही बदनाम जातिवादी हमलों के कारण भी है। जातिवादियों द्वारा ऐसे जानलेवा हमले के बावजूद आरोपी को खुलेआम घूमना ना सिर्फ़ पुलिस पर सवालिया निशान खड़ा करता है बल्कि सूबे में जातिवादियों के हौसले भी बुलंद करता है। पुलिस को तुरंत इस मामले में कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए।

ब्यूरो रिपोर्ट, द न्यूज़बीक

  telegram-follow   joinwhatsapp     YouTube-Subscribe

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here