Home वीडियो पटना : यूं मनाया गया राष्ट्रपिता ज्योतिबा फुले और बाबा साहब की...

पटना : यूं मनाया गया राष्ट्रपिता ज्योतिबा फुले और बाबा साहब की जयंती का जश्न

केनरा बैंक SC-ST एम्पलॉयिज़ वेलफ़ेयर एसोसिएशन की ओर से भारत के राष्ट्र-निर्माताओं को नमन करने के लिए ये आयोजन किया गया था।

181
0
blank
पटना में आयोजित कार्यक्रम की तस्वीर।

पटना के बिहार इंडस्ट्रीज़ एसोसिएशन हॉल में राष्ट्रपिता जोतिबा फुले और बाबा साहब डॉ आंबेडकर की जयंती का साझा कार्यक्रम आयोजित किया गया। बीते शनिवार को केनरा बैंक SC-ST एम्पलॉयिज़ वेलफ़ेयर एसोसिएशन की ओर से भारत के राष्ट्र-निर्माताओं को नमन करने के लिए ये आयोजन किया गया था।

सामाजिक न्याय की ज़मीन रहे बिहार से अपने पुरखों को याद करते हुए वर्तमान मसलों पर चर्चा भी की गई। कार्यक्रम में ‘भारतीय मीडिया की भूमिका और भारत का संविधान’ विषय पर चर्चा रखी गई थी जिसमें बहुजन मीडिया के पत्रकारों ने मीडिया के जातिवादी चरित्र और ब्राह्मणवादी चेहरे को बेनक़ाब किया। 

मीडिया एक पार्टी का प्रचार कर रहा है – जस्टिस वर्मा 

कार्यक्रम की शुरुआत पटना हाईकोर्ट के जस्टिस बी पी वर्मा ने की, जस्टिस वर्मा ने कहा कि हमारे महापुरुषों के संघर्ष की बदौलत आज हमारे लोग अच्छी जगह पहुँच रहे हैं। उन्होंने कहा कि आज का मीडिया सिर्फ एक पार्टी का प्रचार कर रहा है और लोगों में नफरत भर रहा है।

मनु मीडिया बनाम आंबेडकरवादी मीडिया की लड़ाई 

भारतीय मीडिया पर बात करते हुए द न्यूज़बीक और द शूद्र के संपादक सुमित चौहान ने राष्ट्रपिता ज्योतिबा फुले और बाबा साहब डॉ आंबेडकर के पत्रकारीय पहलू पर बात करते हुए मनु मीडिया के जातिवादी चरित्र पर पर अपनी बात रखी। उन्होंने कहा कि ये मनु मीडिया बनाम आंबेडकरवादी मीडिया की लड़ाई है।

नेशनल जनमत के संपादक नीरज भाई पटेल ने बहुजन समाज को एकजुट होने की अपील करते हुए बाबा साहब के प्रतीकों से ज़्यादा उनके विचारों पर चलने की नसीहत दी। उन्होंने बहुजनों से बहुजन मीडिया को सहारा देने की भी अपील की।

कार्यक्रम में बड़ी संख्या में केनरा बैंक के कर्मचारियों और अन्य लोगों ने हिस्सा लिया। आर्टिकल 19 के संपादक नवीन कुमार ने अपने चिर-परिचित अंदाज़ में वर्तमान चुनौतियों से आगाह करते हुए जनता से अपने अधिकारों के लिए संघर्ष करने की अपील की।

संविधान की प्रस्तावना का पाठ किया गया 

कार्यक्रम में भारतीय संविधान की प्रस्तावना का भी पाठ किया गया और संवैधानिक अधिकारों पर हो रहे हमलों पर चिंता जताई गई। जाने-माने विचारक और दिल्ली यूनिवर्सिटी में शिक्षक डॉ लक्ष्मण यादव ने उन साज़िशों के बारे में आगाह किया जो मौजूदा सरकारें बहुजनों के ख़िलाफ़ कर रही हैं। 

ब्राह्मणवाद की उधेड़ी गई बखिया 

कार्यक्रम में बिहार विकर सेक्शन के एडिश्नल डीजीपी अनिल किशोर यादव ने भी शिरकत की। उन्होंने बहुजन इतिहास को हड़प कर ब्राह्मणवादी प्रपंच रचने वालों की पोल खोल दी। उन्होंने कहा कि ‘जिस तरह से प्रोपेगेंडा फैलाने के लिए पहले पुराण रचे गए थे, आज मीडिया का निर्माण किया गया है।’

केनरा बैंक SC-ST एम्पलॉयिज़ वेलफ़ेयर एसोसिएशन ने किया आयोजन 

केनरा बैंक SC-ST एम्पलॉयिज़ वेलफ़ेयर एसोसिएशन की ओर से आयोजित ना सिर्फ़ अपने पुरखों को नमन किया गया बल्कि समसामयिक मुद्दों पर भी मंथन किया गया। मंच का संचालन कर रहे विरेंद्र प्रसाद और उनकी टीम ने काफ़ी मेहनत कर इस कार्यक्रम को सफल बनाया। मिशन पे-बैक टू सोसाइटी को याद रख अपने महापुरुषों को याद करना हम सबकी ज़िम्मेदारी है। 

पटना से मोहित कुमार की रिपोर्ट 

  telegram-follow   joinwhatsapp     YouTube-Subscribe

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here