Home ट्रेंडिंग चुनावी बैठक में मायावती ने कहा ‘गठबंधन से नुकसान ज्यादा, फायदा कम...

चुनावी बैठक में मायावती ने कहा ‘गठबंधन से नुकसान ज्यादा, फायदा कम इसलिए अकेले लड़ेंगे’

मायावती ने इस बैठक में साफ़ कर दिया कि वो चुनाव में अकेले दम पर उतरने जा रही हैं।

501
0
blank
BSP अध्यक्ष मायावती और नेशनल कोऑर्डिनेटर आकाश आनंद। (Photo-BSP)

लखनऊ : आज बसपा कार्यालय में बहुजन समाज पार्टी की मुखिया बहन कुमारी मायावती ने अहम बैठक की, इस बैठक में इसी साल होने वाले चार राज्यों के विधानसभा चुनावों और अगले साल होने वाले लोकसभा चुनावों को लेकर मंथन किया गया और चुनावी रणनीति तैयार की गई।

गठबंधन से नुकसान ज्यादा, फायदा कम – मायावती

मायावती ने इस बैठक में साफ़ कर दिया कि वो चुनाव में अकेले दम पर उतरने जा रही हैं। बीएसपी की ओर से शेयर की गई प्रेस रिलीज़ के मुताबिक़ मायावती ने कहा यूपी में गठबंधन करके बीएसपी को लाभ के बजाय नुक़सान ही ज़्यादा उठाना पड़ता है क्योंकि हमारी पार्टी का वोट स्पष्ट तौर पर गठबंधन वाली दूसरी पार्टी को ट्रांसफ़र हो जाता है लेकिन दूसरी पार्टियाँ अपना वोट हमारे उम्मीदवार को ट्रांसफ़र कराने की न सही नीयत रखती है और न ही क्षमता, जिससे पार्टी के लोगों का मनोबल प्रभावित होता है और इसलिए इस कड़वी हक़ीक़त को पूरे तौर से नज़रअंदाज़ करके आगे नहीं बढ़ा जा सकता। इस वजह से बीएसपी सत्ता और विपक्ष दोनों गठबंधनों से अलग और दूर रहती है।’

यानी मायावती ना ही बीजेपी के एनडीए में शामिल होंगी और ना ही विपक्ष के इंडिया गठबंधन में… वो अकेले ही चुनावी मैदान में उतरने जा रही हैं।

BJP की नफरत वाली राजनीति से सब दुखी

मायावती ने भाजपा पर भी निशाना साधा और उसे नफ़रत की राजनीति करने वाली पार्टी करार दिया। मायावती ने कहासत्ताधारी भाजपा की संकीर्ण, जातिवादी, सांप्रदायिक राजनीति और द्वेषपूर्ण एवं अराजकता को प्रश्रय देने वाले कार्यकलापों आदि के कारण सभी लोगों का जीवन दुखी और त्रस्त है। इस कारण भाजपा अपना प्रभाव ही नहीं बल्कि अपना जनाधार भी लगातार खो रही है और ये प्रक्रिया आगे जारी रहने वाली है जिससे लोकसभा का चुनाव यूपी में एकतरफ़ा न होकर काफ़ी दिलचस्प व देश की राजनीति को नई करवट देने वाला साबित होगा।’

आकाश आनंद भी हुए बैठक में शामिल

मायावती की बैठक में उनके भतीजे और नेशनल कोऑर्डिनेटर आकाश आनंद भी दिखाई दिये, आकाश आनंद इन दिनों राजस्थान में यात्रा कर रहे हैं लेकिन वो खास तौर पर बैठक में हिस्सा लेने के लिए लखनऊ पहुंचे थे। इस दौरान मायावती ने कांग्रेस और बीजेपी को लपेटते हुए कहा कि आने वाले चुनाव में इन पार्टियों को भारी नुकसान होगा।

मायावती ने कहा ‘कांग्रेस पार्टी की तरह भाजपा की कथनी और करनी में ज़मीन-आसमान का अंतर है, इनके राज में लोगों की आमदनी अठन्नी और खर्चा रूपया हो जाने के कारण कुछ मुट्ठीभर लोगों को छोड़कर बाक़ी सभी लोगों अर्थात् देश के बहुजन लोगों को परिवार का पालन-पोषण करने में भी दिक़्क़त हो रही है, इन सबका अगले लोकसभा चुनाव में असर होगा, इससे कोई इनकार नहीं कर सकता।’

आपको बता दें कि सियासी गलियारों में ये हवा तेज़ ही कांग्रेस बसपा के साथ गठबंधन की कोशिश कर रही है लेकिन आज मायावती ने साफ कर दिया कि वो किसी के साथ नहीं जाएंगी। मायावती की इस एकला चलो रणनीति पर आप क्या सोचते हैं ?

  telegram-follow   joinwhatsapp     YouTube-Subscribe

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here