Home ट्रेंडिंग ट्रेंडिंग : अभिनेत्री युविका चौधरी ने किया जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल, गिरफ्तारी...

ट्रेंडिंग : अभिनेत्री युविका चौधरी ने किया जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल, गिरफ्तारी की उठी मांग !

सलमान खान से लेकर शिल्पा शेट्टी तक और मुनमुन दत्ता से लेकर युविका चौधरी तक, एक खास जाति के प्रति इनकी नफरत जगजाहिर है। ऐसे में ज़रूरत है कि ऐसे लोगों पर सख्त कानूनी कार्रवाई हो।

723
0
blank
युविका चौधरी और उनके पति प्रिंस नरूला (फोटो-@yuvikachoudhary)

आपका सहयोग हमें सशक्त बनाएगा

# हमें सपोर्ट करें

Rs.100  Rs.500  Rs.1000  Rs.5000  Rs.10,000

ट्रेंडिंग : पिछले कुछ दिनों से ट्विटर पर कॉमेडियन, एक्टर्स और अन्य सेलेब्रिटीज़ के जातिवादी ट्वीट्स पर बवाल हो रहा है। इसी बीच अभिनेत्री और मॉडल युविका चौधरी की एक वीडियो क्लिप वायरल हो रही है जिसमें वो जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल कर रही हैं। वीडियो में युविका के पति और एक्टर प्रिंस नरूला हेयर कट करवा रहे हैं और पीछे से युविका चौधरी कहती हैं ‘हमेशा जब भी मैं ब्लॉग बनाती हूं, हमेशा मैं क्यों भंगियों की तरह खड़ी हो जाती हूं आके। मुझे इतना टाइम मिलता ही नहीं है कि मैं अपने आपको ढंग से दिखा सकूं।’

युविका ने यूट्यूब पर वीडियो से इस हिस्से को हटाया

हमने जब युविका चौधरी के यूट्यूब चैनल पर जाकर देखा तो उन्होंने इस हिस्से को अपने यूट्यूब वीडियो से ट्रिम कर दिया है लेकिन सोशल मीडिया पर उनकी वीडियो क्लिप तेज़ी से वायरल हो रही है।

गिरफ्तारी की हो रही है मांग  

सोशल मीडिया पर लोग #ArrestYuvikaChoudhary के साथ युविका चौधरी की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं। वरिष्ठ पत्रकार और लेखक दिलीप मंडल ने भी इस मांग का समर्थन किया।

कानूनी कार्रवाई की मांग

जाने-माने वकील और एक्टिविस्ट नितिन मेश्राम ने ट्विटर पर बताया कि कैसे युविका चौधरी ने कानून के तहत अपराध किया है। उन्होंने लिखा ‘युविका चौधरी ने IPC की धारा 153A के तहत गुनाह किया है जो कि संगीन और गैर-ज़मानती अपराध है। उन्हें ज़रूर गिरफ्तार किया जाना चाहिए’

जाति पर दोहरी मानसिकता पर उठी सवाल

DNN हिंदी न्यूज़ चैनल के संपादक वैभव कुमार ने युविका चौधरी की गिरफ्तारी का समर्थन करते हुए कथित लिबरल, सवर्ण और एक्टिविस्ट लॉबी की दोगली मानसिकता पर भी सवाल उठाया। उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल से लिखा ‘अभी थप्पड़ मारने जैसा कोई और मुद्दा होता जिसमें जाति का कोई लेना देना नहीं था तो सभी प्रगतिशील और लिबरल कहने वाले पत्रकार भी ट्रेंड में शामिल हो जाते हैं लेकिन जहां बात जातिवाद की विरोध करने की आती है सब के मुंह में दही जम जाती है।’

SC-ST एक्ट और IPC की विभिन्न धाराओं में इस तरह के जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल करना और किसी जाति को नीचा दिखाने की कोशिश करना दंडनीय अपराध है लेकिन बावजूद इसके लोग इन शब्दों के इस्तेमाल से बाज़ नहीं आ रहे। यहां तक कि सेलेब्रिटीज़ भी धड़ल्ले से ऐसे शब्दों का इस्तेमाल करते हैं। सलमान खान से लेकर शिल्पा शेट्टी तक और मुनमुन दत्ता से लेकर युविका चौधरी तक, एक खास जाति के प्रति इनकी नफरत जगजाहिर है। ऐसे में ज़रूरत है कि ऐसे लोगों पर सख्त कानूनी कार्रवाई हो ताकि लोग फिर ऐसा अपराध करने से पहले कई बार सोचें।

ब्यूरो रिपोर्ट

 

  telegram-follow   joinwhatsapp     YouTube-Subscribe

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here