Home इंटरव्यू ‘बीमार’ कंगना रनौट को डॉ दिलीप मंडल ने बताया इलाज, जातिवाद का...

‘बीमार’ कंगना रनौट को डॉ दिलीप मंडल ने बताया इलाज, जातिवाद का इलाज कराएंगी ‘जजमेंटल’ ?

664
1
blank
द शूद्र से खास बातचीत में प्रो दिलीप मंडल ने कंगना रनौट पर विस्तार से बात की।

आपका सहयोग हमें सशक्त बनाएगा

# हमें सपोर्ट करें

Rs.100  Rs.500  Rs.1000  Rs.5000  Rs.10,000

जातिवाद बनाम आरक्षण के मुद्दे पर अभिनेत्री कंगना रनौट और वरिष्ठ पत्रकार प्रो दिलीप मंडल के बीच छिड़ा ट्विटर वॉर अब और भी आगे बढ़ता जा रहा है। कंगना ने आरक्षण को कोसते हुए संविधान को जातिवाद को बनाए रखने वाला बताया तो प्रो दिलीप मंडल ने कंगना को बीमार कह दिया। द शूद्र से खास बातचीत में प्रो दिलीप मंडल ने इस पूरे मामले पर विस्तार से बात की।

प्रो दिलीप मंडल ने कहा कि उन्होेंने अमेरिकी लेखिका इसाबेल विलकिरसन की किताब Caste: The Origins of Our Discontent का रिव्यू लिखा था, जिन्होंने भारत में जाति की समस्या को एक अलग नज़रिए से पेश किया है लेकिन कंगना रनौट ने बिना किताब पढ़े और बिना इस मुद्दे को समझे पूरी बहस को आरक्षण की तरफ मोड़ दिया। उन्होंने कहा कि सवर्ण परिवारों में अक्सर बच्चों को ये ट्रेनिंग दी जाती है कि अगर वो कामयाब नहीं होते हैं तो इसके पीछे का कारण आरक्षण है। परिवार ही बच्चों के सिखाते हैं कि जाति क्या है, किसके साथ बैठना है, किसके साथ खेलना है। यही वजह है कि पहाड़ी क्षेत्र से आने वाली कंगना, जहां जातिवाद की पराकाष्ठा है, जाति को एक समस्या के तौर पर नहीं देखती।

प्रो दिलीप मंडल ने कंगना को बीमार बताते हुए इलाज के तौर पर उन्हें कुछ किताबों का प्रिस्क्रिप्शन दिया है। उन्होंने ये भी कहा कि अगर कंगना बतौर छात्र उनकी क्लास में आती हैं तो वो उन्हें जाति की समस्या को समझने में मदद करेंगे। द शूद्र के फाउंडिग एडिटर सुमित चौहान और प्रो दिलीप मंडल की ये पूरी बातचीत आप नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक कर देख सकते हैं।

  telegram-follow   joinwhatsapp     YouTube-Subscribe

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here