Home भारत दलित संग भोजन पर RJD ने पूछा ‘योगी के साथ राजपूत, मोदी...

दलित संग भोजन पर RJD ने पूछा ‘योगी के साथ राजपूत, मोदी के साथ बनिया क्यों नहीं लिखते बीजेपी वाले?’

ये कैसा दलित प्रेम है? दलितों पर डोरे क्यों डाल रही है बीजेपी?

479
0
blank
www.theshudra.com

यूपी चुनाव में पिछड़ों से दुत्कारे जाने के बाद बीजेपी को दलितों का ही सहारा बचा है इसलिए बीजेपी के नेता दलितों के घर जा रहे हैं, उनके साथ खाना खा रहे हैं और फोटो सोशल मीडिया पर शेयर कर रहे हैं। पहले यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर में दलित कार्यकर्ता के घर जाकर खाना खाया और बाद में गोरखपुर से बीजेपी सांसद रविकिशन ने भी यही दोहराया लेकिन रविकिशन और योगी आदित्यनाथ विपक्ष के निशाने पर आ गए हैं।

RJD ने रविकिशन और योगी पर किया करारा वार 

लालू प्रसाद की पार्टी RJD ने रविकिशन को ‘नचनिया’ और योगी को ‘भोगी’ कहते हुए उनके दलित प्रेम पर हमला बोला है। आरजेडी ने अपने आधिकारिक ट्विटर से ट्वीट किया और बीजेपी नेताओं को निशाने पर लिया। आरजेडी ने पहले ट्वीट में लिखा ‘क्या एक नचनिया रवि किशन शुक्ला और ढोंगी भोगी ठाकुर अजय बिष्ट दलित के घर खाना खाकर दलितों को कमतरी का अहसास करा रहे है? क्या दलित इंसान नहीं है जो उनके घर फ़्री का खाना भकोस ये तुच्छ लोग अपनी जातीय श्रेष्ठता, अभिमान, कुल और पेटू होने के दंभ का सार्वजनिक भौंडा प्रदर्शन कर रहे है?’

RJD ने पूछा, दलितों से शादी-ब्याह क्यों नहीं करते?

आरजेडी ने अपने दूसरे ट्वीट में लिखा ‘दलितों से संबंध स्थापित करना है तो उनके घर शादी-ब्याह किजीए। उन्हें मंदिरो का पुजारी व मठ का मठाधीश बनाइए। दलित के घर मीडियाकर्मियों की भीड़ के साथ फ़्री का भोजन करना उसको लज्जित करना है,उसे एहसास दिलाना है वह शूद्र है आप श्रेष्ठ है।आप उसके घर भोजन कर उसपर एहसान लाद रहे है,क्या?’

दलित भाई क्या होता है ?

आरजेडी के नेता और कार्यकर्ता भी बीजेपी के दलित प्रेम पर सवाल उठा रहे हैं। आरजेडी के सोशल मीडिया संयोजक आकाश ने रविकिशन के ‘दलित भाई संग भोजन’ वाले कैप्शन पर सवाल उठाते हुए पूछा कि योगी के साथ क्यों नहीं लिखते राजपूत भाई संग खाए हैं? उन्होंने लिखा ‘@ravikishann ने कैप्शन लिखा है “दलित भाई के संग भोजन किया” ये कौन नाम या उपनाम है भाई? योगी जी के संग को तो कभी ये नहीं लिखते कि राजपूत भाई संग खाए हैं, मुलाक़ात किए हैं। मोदी जी के संग तो कभी नहीं लिखे गुजराती बनिया से मुलाक़ात हुई। ये क्या भेदभाव है ब्राह्मण भाई?’

बेटी-रोटी के संबंध से अपवित्र हो जाएँगे शुक्ला ?

वहीं आरजेडी के ही सोशल मीडिया संयोजक कुमार दिव्यशंकर ने लिखा ‘दलितों से बेटी रोटी का संबंध रखने पर शुक्ला जी अपवित्र हो जायेंगे न। दलितों से बस चढ़ावे और भोग-विलास का संबंध रखते हैं शुक्ला जी। वो तो चुनाव जो न करवाए, वरना ऐसे मजाल है जो दलितों का छुआ हुआ रुपया और सोना चांदी के अलावा बाकी कुछ स्वीकार कर लें।’

अब सवाल उठता है कि ये बीजेपी का कैसा दलित प्रेम है। वीडियो देखने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें।

  telegram-follow   joinwhatsapp     YouTube-Subscribe

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here