Home भारत राजस्थान के पाली में दलित मां-बेटी के साथ दरिंदगी, जातिवादी गुंडों ने...

राजस्थान के पाली में दलित मां-बेटी के साथ दरिंदगी, जातिवादी गुंडों ने लाठी-डंडों से बुरी तरह पीटा

एक दलित बुजुर्ग महिला और उसकी गर्भवती बेटी को कथित तौर पर गांव के ही ठाकुरों ने बेरहमी से पीटा। वारदात का वीडियो तेज़ी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

555
0
blank
वायरल वीडियो से लिए गए स्क्रीनशॉट

आपका सहयोग हमें सशक्त बनाएगा

# हमें सपोर्ट करें

Rs.100  Rs.500  Rs.1000  Rs.5000  Rs.10,000

राजस्थान दलितों के लिए कब्रगाह बनता जा रहा है। आए दिन राजस्थान के अलग-अलग इलाकों से दलितों के खिलाफ हिंसा की रोंगटे खड़े कर देने वाली वारदातें सामने आ रही हैं। ताज़ा मामला राजस्थान के पाली ज़िले का है जहां एक दलित बुजुर्ग महिला और उसकी गर्भवती बेटी को कथित तौर पर गांव के ही ठाकुरों ने बेरहमी से पीटा। वारदात का वीडियो तेज़ी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

चंद्रशेखर आज़ाद ने गहलोत सरकार को घेरा

भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आज़ाद ने ट्विटर पर वीडियो शेयर करते हुए लिखा ‘राजस्थान, पाली में पीड़ित परिवार के लोग महीने भर से मुख्यमंत्री एवं जिला पुलिस प्रशासन को उन पर जानलेवा हमले की आशंका को लेकर सचेत करते रहे हैं पर कोई कार्यवाही नहीं की गई। आज कुछ कायर लोगों ने मां और गर्भवती बेटी पर जानलेवा हमला किया। क्या ऐसे ही दलितों का भला करेगी कांग्रेस? भाजपा शासित राज्यो में दलित दमन पर न्याय मांगने वाली कांग्रेस, कांग्रेस शासित राज्यों में ऐसे दमन क्यों कर रही है? तत्काल वहां के SP, SHO एवं CO को सस्पेंड कर दोषियों को अरेस्ट किया जाए। वर्ना पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने राजस्थान हम खुद आ रहे हैं।’

वीडियो में मां-बेटी को बुरी तरह पीटते दिख रहे हैं आरोपी

वायरल वीडियो में 10 लोग दलित-मां बेटी को लाठी-डंडों से पीटते हुए दिखाई दे रहे हैं। इन जातिवादी गुंडों ने गर्भवती बेटी पर भी कोई रहम नहीं किया। वीडियोे में पीड़ित महिला सरकार से रक्षा करने की गुहार लगा रही है तो वहीं पीड़िता का बेटा बताता है कि कैसे गांव के जातिवादी गुंडों ने उसकी मां और गर्भवती बहन कोे बुरी तरह पीटा है। गर्भवती बेटी अपने शरीर पर चोट के निशान दिखाते हुए बिलख रही है।

पीड़ित का घर छीनने का आरोप

पीड़ित परिवार के लड़के अशोक मेघवाल ने हमें बताया ‘गांव में मेरे पुरखे आज़ादी से भी पहले जिस ज़मीन पर रहते आ रहे हैं, उसे गांव का ही ठाकुर हुकुम सिंह राजपूत छीनना चाहता है। ज़मीन के मालिकाना हक को लेकर मामला कोर्ट में लंबित है लेकिन हुकुम सिंह राजपूत का परिवार अक्सर परिवार के साथ मारपीट करता है।’

पुलिस ने नहीं की कोई मदद 

अशोेक मेघवाल ने हमें बताया कि उसने 15 मार्च को ही पुलिस में आरोपी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी लेकिन पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की। अशोक के मुताबिक उसने आज हुए हमले के बारे में भी पुलिस को सूचना दी थी लेकिन पुलिस वक्त रहते मदद के लिए नहीं आई।

ASP ने क्या कहा ?

मामले पर The Shudra और The News Beak के एडिटर सुमित चौहान ने पाली के एएसपी श्रवण से बात की। उन्होंने हमें बताया कि मामले में SC-ST एक्ट की धाराओं के तहत केस दर्ज कर लिया गया है, पीड़ित महिलाओं को अस्पताल में भर्ती कराया गया है और वो मेडिकल रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं ताकि आरोपियों को सख्त सबूतों के आधार पर गिरफ्तार कर जेल भेजा जा सके।

 

  telegram-follow   joinwhatsapp     YouTube-Subscribe

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here