Home भारत दिल्ली के राजपूत डीसीपी Vs दलित एएसआई केस में नया मोड़, अनुसूचित...

दिल्ली के राजपूत डीसीपी Vs दलित एएसआई केस में नया मोड़, अनुसूचित जाति आयोग ने दिए कार्रवाई के संकेत

अब इस मामले में राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग सक्रिय हो गया है। खुद आयोग के चेयरमैन विजय सांपला ने इस बारे में कार्रवाई के संकेत दिए हैं। विजय सांपला ने पीड़ित परिवार से इस बारे में लिखित शिकायत मांगी है।

295
0
blank
दलित ASI के परिवार का आरोप है कि डीसीपी का स्टाफ हथियार लेकर उन्हें मारने आया था।

आपका सहयोग हमें सशक्त बनाएगा

# हमें सपोर्ट करें

Rs.100  Rs.500  Rs.1000  Rs.5000  Rs.10,000

दिल्ली पुलिस के राजपूत डीसीपी बनाम दलित एएसआई केस में नया मोड़ आ गया है। अब इस मामले में राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग सक्रिय हो गया है। खुद आयोग के चेयरमैन विजय सांपला ने इस बारे में कार्रवाई के संकेत दिए हैं। विजय सांपला ने पीड़ित परिवार से इस बारे में लिखित शिकायत मांगी है।

ट्विटर पर दिया जवाब 

The Shudra और The News Beak ने दिल्ली पुलिस के DCP एस के सिंह और ASI सतपाल सिंह के बीच पार्किंग को लेकर छिड़े विवाद पर विस्तृत रिपोर्ट दिखाई थी जिसके बाद ये मामला सुर्खियों में आ गया था।

इसी कड़ी में वरिष्ठ पत्रकार प्रो दिलीप मंडल ने ट्विटर पर चिंता जाहिर करते हुए मामले की उच्च स्तरीय जांच की मांग की थी, विजय सांपला ने अब इसका संज्ञान लिया है। उन्होंने लिखा ‘@Profdilipmandal जी मेरा आप से अनुरोध है कि कृपया कर आप मुझे अपनी शिकायत औपचारिक रूप से chairman-ncsc@nic.in पर भेजे जो कि इस पर कार्यवाही हो सके।

पीड़ित परिवार कर चुका है आयोग में शिकायत 

पीड़ित ASI का परिवार पहले ही राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग में लिखित शिकायत दर्ज करा चुका है। पीड़ित परिवार की ओर से हमेें शिकायत की कॉपी भेजी गई थी जिसे The Shudra और The News Beak के एडिटर सुमित चौहान ने ट्विटर के ज़रिए विजय सांपला के साथ साझा किया है।

क्या है पूरा मामला ?

दरअसल दिल्ली के पुलिस लाइंस इलाके में रहने वाले डीसीपी एस के सिंह और एएसआई सतपाल सिंह के बीच पार्किंग की जगह को लेकर विवाद चल रहा है। डीसीपी एस के सिंह का आरोप है कि सतपाल सिंह ने अवैध निर्माण किया है जबकि एएसआई के परिवार ने डीसीपी पर जातिसूचक गालियां देने और उनके घर में जबरन अपनी गाड़ियां पार्क कराने का आरोप लगाया है।

ASI की बेटी का आरोप है कि डीसीपी की पत्नी उन्हें रेप करवा देने की धमकियां देती है। The Shudra और The News Beak पर खबर दिखाए जाने के बाद ये मामला सुर्खियों में आ गया था जिसके बाद दिल्ली पुलिस ने ASI के घर के उस विवादित हिस्से को ही सील कर दिया। पीड़ित परिवार का आरोप है कि डिपार्टमेंट की ओर से ऐसा इसलिए किया गया क्योंकि डीसीपी बार-बार कहते थे कि सुबह उठते ही वो चूहड़े-चमारों का मुंह नहीं देखना चाहते। हालांकि डीसीपी ऐसे तमाम आरोपों से इनकार करते रहे हैं लेकिन दिल्ली पुलिस की कार्रवाई के बाद कई सवाल भी उठ खड़े हुए। अब देखना होगा कि राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग इस मामले में क्या कार्रवाई करता है? खबर का वीडियो देखने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें।

  telegram-follow   joinwhatsapp     YouTube-Subscribe

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here