Home भारत सरकार ऑक्सीजन को दे प्राथमिकता, जरूरत पड़े तो आयात करे – मायावती

सरकार ऑक्सीजन को दे प्राथमिकता, जरूरत पड़े तो आयात करे – मायावती

बीएसपी मुखिया मायावती ने विभिन्न राज्यों ऑक्सीजन की कमी पर चिंता जताई है। साथ ही उन्होंने मोदी सरकार को कुछ ज़रूरी नसीहत भी दी हैं।

350
0
blank
www.theshudra.com

आपका सहयोग हमें सशक्त बनाएगा

# हमें सपोर्ट करें

Rs.100  Rs.500  Rs.1000  Rs.5000  Rs.10,000

कोरोना महामारी के कारण देश में हाहाकार मचा हुआ है। मरीजों को बेहतर इलाज ना मिलने और ऑक्सीज़न की भारी किल्लत होने पर बीएसपी अध्यक्ष मायावती ने चिंता जताई है। मायावती ने मोदी सरकार से कहा है कि देश के सभी राज्यों में ऑक्सीज़न की सप्लाई को प्राथमिकता दी जाए। मायावती ने ये भी कहा कि अगर ज़रूरत पड़े तो ऑक्सीज़न सिलेंडर आयात किए जाएं।

मायावती ने ट्विटर पर सरकार को घेरा 

एक के बाद एक मायावती ने इस बारे में तीन ट्वीट किए। अपने पहले ट्वीट में उन्होंने लिखा ‘देश के विभिन्न राज्यों में कोरोना वैक्सीन व अस्पतालों में इलाज हेतु आक्सीजन की जबर्दस्त कमी को देखते हुए केन्द्र सरकार से अनुरोध है कि इनकी सप्लाई सुनिश्चित करने के लिए प्राथमिकता के आधार पर विशेष ध्यान दे और यदि इसके लिए आयात करने की जरूरत पड़ती है तो आयात भी किया जाए’

कोरोना गाइडलाइंस का पालन करें लोग – मायावती

मायावती ने अपने दूसरे ट्वीट में लिखा ‘साथ ही, देश की जनता से भी पुनः अपील है कि राज्य सरकारों द्वारा कोरोना महामारी से बचाव के उपाय के तहत जो भी सख्ती तथा सरकारी गाइडलाइन्स दिए जा रहे हैं उसका सही से अनुपालन करें ताकि कोरोना प्रकोप की रोकथाम हो सके अर्थात लोग भी अपनी जिम्मेदारी को निभाएं।’

युवाओं को भी लगे कोरोना वैक्सीन – मायावती

मायावती ने युवाओं के कोरोना ग्रसित होने पर चिंता जताते हुए कहा कि अब युवाओं को भी कोरोना वैक्सीन दी जाए। तीसरे ट्वीट में उन्होंने लिखा ‘इसके अलावा, कोरोना वायरस अब युवाओं को भी अपनी चपेट में लेने लगा है, जो काफी चिन्ता का विषय बनता जा रहा है। अतः कोरोना वैक्सीन के सम्बंध में उम्र की सीमा के सम्बंध में भी केन्द्र सरकार को अब जरूर यथाशीघ्र पुनर्विचार करना चाहिए, बीएसपी की यह माँग।’

 

देश में जिस तरह से कोरोना का कहर बढ़ रहा है, उस हिसाब से इंतज़ाम नहीं किए जा रहे। यही वजह है कि एक साल बाद भी देश का वही हाल है। ऐसे में मोदी सरकार को विपक्षी नेताओं की इन नसीहतों पर ध्यान देना चाहिए।

  telegram-follow   joinwhatsapp     YouTube-Subscribe

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here