Home भारत योगी सरकार मुसलमानों को टारगेट करके बुल्डोज़र चला रही है – मायावती

योगी सरकार मुसलमानों को टारगेट करके बुल्डोज़र चला रही है – मायावती

मायावती ने पैगंबर मोहम्मद पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले बीजेपी नेताओं नूपुर शर्मा और नवीन जिंदल को समस्या की जड़ करार दिया।

165
0
blank
(फोटो-इंटरनेट)

बसपा अध्यक्ष मायावती ने यूपी में लोगों के घरों पर बुल्डोज़र चलाए जाने को लेकर योगी सरकार की कड़ी निंदा की है। मायावती ने इसे कानून का दुरुपयोग कहते मुसलमानों को टारगेट किए जाने को अन्यायपूर्ण बताया है।

कोर्ट अन्यायपूर्ण कार्रवाई का संज्ञान ले – मायावती 

मायावती ने ट्विटर पर लिखा ‘यूपी सरकार एक समुदाय विशेष को टारगेट करके बुलडोजर विध्वंस व अन्य द्वेषपूर्ण आक्रामक कार्रवाई कर विरोध को कुचलने एवं भय व आतंक का जो माहौल बना रही है यह अनुचित व अन्यायपूर्ण। घरों को ध्वस्त करके पूरे परिवार को टारगेट करने की दोषपूर्ण कार्रवाई का कोर्ट जरूर संज्ञान ले।’

समस्या की जड़ नूपुर शर्मा और नवीन जिंदल – मायावती 

मायावती ने अगले ट्वीट में पैगंबर मोहम्मद पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले बीजेपी नेताओं नूपुर शर्मा और नवीन जिंदल को समस्या की जड़ करार दिया। उन्होंने अपने दूसरे ट्वीट में लिखा ‘2. जबकि समस्या की मूल जड़ नूपुर शर्मा व नवीन जिन्दल हैं जिनके कारण देश का मान-सम्मान प्रभावित हुआ व हिंसा भड़की, उनके विरुद्ध कार्रवाई नहीं करके सरकार द्वारा कानून के राज का उपहास क्यों? दोनों आरोपियों को अभी तक जेल नहीं भेजना घोर पक्षपात व दुर्भाग्यपूर्ण। तत्काल गिरफ्तारी जरूरी।’

ऐसी ज्यादती क्यों? – मायावती 

मायावती ने योगी सरकार पर निशाना साधते हुए पूछा कि आखिर बिना किसी नियम-कानून के ऐसी ज्यादती क्यों की जा रही है? मायावती ने अपने तीसरे ट्वीट में लिखा ‘3. सरकार द्वारा नियम-कानून को ताक पर रखकर आपाधापी में किए जा रहे बुलडोजर विध्वंसक कार्रवाईयों में न केवल बेगुनाह परिवार पिस रहे हैं बल्कि निर्दोषों के घर भी ढह दिए जा रहे हैं। इसी क्रम में पीएम आवास योजना के मकान को भी ध्वस्त कर देना काफी चर्चा में रहा, ऐसी ज्यादती क्यों?’

यूपी में कई जगह भड़की थी हिंसा 

दरअसल बीजेपी नेता नूपुर शर्मा और नवीन जिंदल ने पैगंबर मोहम्मद के बारे में अपमानजनक बात कही थी जिसके बाद उनके खिलाफ यूपी के कई इलाकों में विरोध प्रदर्शन हुए थे। प्रयागराज और कानपुर में प्रदर्शन हिंसक हो गए थे जिसके बाद योगी सरकार ने उन लोगों के घरों को बुल्डोज़र से ढहा दिया जिनपर हिंसा भड़काने का आरोप लगे हैं। लेकिन सवाल उठता है कि आखिर बिना किसी जांच-पड़ताल, बिना किसी मुकदमें और बिना कोर्ट के फैसले के इस तरह सज़ा देना, क्या वाकई इंसाफ है या फिर गुंडाराज ?

  telegram-follow   joinwhatsapp     YouTube-Subscribe

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here