Home डॉ. आंबेडकर मूकनायक स्थापना दिवस विशेष : एक पत्रकार के रूप में डॉ आंबेडकर...

मूकनायक स्थापना दिवस विशेष : एक पत्रकार के रूप में डॉ आंबेडकर को आप कितना जानते हैं ? मिलिए पत्रकार डॉ आंबेडकर से

बाबा साहब डॉ आंबेडकर ने बतौर पत्रकार समानता के लिए आवाज़ उठाई, उन्होंने बतौर पत्रकार अन्याय का विरोध किया, उन्होंने हमारे देश के निर्माण में समता का बीज बोने के लिए अपनी पत्रकारिता का इस्तेमाल किया।

178
0
blank
www.theshudra.com

क्या आपको मालूम है कि डॉ आंबेडकर एक शानदार पत्रकार भी थे? क्या आप जानते हैं कि उन्होंने पाँच-पांच अख़बार निकाले थे? और क्या आप जानते हैं कि अपनी 65 साल की ज़िंदगी में उन्होंने 36 साल तक पत्रकारिता की थी? आपमें से बहुत से लोग जानते होंगे और जो नहीं जानते, आज के इस वीडियो में हम उनकी मुलाक़ात कराएँगे पत्रकार आंबेडकर से। तो आइये जानते हैं डॉ आंबेडकर के उस जीवन के बारे में जब वो खुद ही रिपोर्टर बन गए और खुद ही संपादक। मूकनायक के 102वें स्थापना दिवस पर जानिए मूकनायक से प्रबुद्ध भारत तक का शानदार सफर। वीडियो देखने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें।

आज जब मीडिया पतनशीलता के सबसे निचले पायदान पर जा चुका है तो ऐसे समय में आंबेडकरवादी मीडिया ही हमारे देश के संविधान और लोकतंत्र को बचा सकती है। बाबा साहब डॉ आंबेडकर ने बतौर पत्रकार समानता के लिए आवाज़ उठाई, उन्होंने बतौर पत्रकार अन्याय का विरोध किया, उन्होंने हमारे देश के निर्माण में समता का बीज बोने के लिए अपनी पत्रकारिता का इस्तेमाल किया। डॉ आंबेडकर एक पत्रकार के तौर पर हमें लोकतंत्र और संविधान की रक्षा करने की सीख भी देते हैं।

  telegram-follow   joinwhatsapp     YouTube-Subscribe

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here