Home Caste Violence सिंघु बॉर्डर के ‘तालिबानियों’ के खिलाफ दलित समाज में जबरदस्त आक्रोश !

सिंघु बॉर्डर के ‘तालिबानियों’ के खिलाफ दलित समाज में जबरदस्त आक्रोश !

सोशल मीडिया पर बड़ी संख्या में लोग मृतक लखबीर सिंह के लिए न्याय की गुहार लगा रहे हैं।

667
0
blank
Poster by Lokesh Pooja

सिंघु बॉर्डर पर एक दलित कामगार की निहंगों द्वारा बर्बर हत्या को लेकर दलित समाज में जबरदस्त आक्रोश है। लोग सोशल मीडिया पर निहंगों की इस हरकत को तालिबानी करार दे रहे हैं और दोषियों को सख्त सज़ा की मांग कर रहे हैं। सोशल मीडिया पर बड़ी संख्या में लोग मृतक लखबीर सिंह के लिए न्याय की गुहार लगा रहे हैं।

क्यों की गई हत्या ?

सिंघु बॉर्डर पर निहंगों ने एक दलित कामगार शख्स को बेरहमी से मार डाला। उसके साथ तालिबानी तरीके की हैवानियत को अंजाम दिया गया। यहां तक कि उसका एक हाथ तक काट डाला गया और उसकी लाश को सरेआम टांग दिया गया। निहंगों ने आरोप लगाया कि लखबीर सिंह ने गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी की थी इसीलिए उन्होंने उसे मौत के घाट उतार दिया। इस मामले में दो निहंग सिखों ने पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया है।

दोषियों पर सख्त कार्रवाई हो – मायावती 

बीएसपी अध्यक्ष मायावती ने भी इस मसले पर ट्वीट कर दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है। उन्होंने लिखा ‘दिल्ली सिंघु बॉर्डर पर पंजाब के एक दलित युवक की नृशंस हत्या अति-दुखद व शर्मनाक। पुलिस घटना को गंभीरता से लेते हुए दोषियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई करे तथा पंजाब के दलित सीएम भी लखीमपुर खीरी की तरह पीड़ित परिवार को 50 लाख रुपए की मदद व सरकारी नौकरी दें, बीएसपी की यह माँग।’

इस वारदात ने एक बार फिर सिख धर्म में पसरे जातिवाद और ब्राह्मणवाद का क्रूर चेहरा उजागर कर दिया है।

 

  telegram-follow   joinwhatsapp     YouTube-Subscribe

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here