Home Caste Violence एक्टिविस्ट सूरज बौद्ध के चचेरे भाई की पीट-पीटकर हत्या, यूपी पुलिस जबरन...

एक्टिविस्ट सूरज बौद्ध के चचेरे भाई की पीट-पीटकर हत्या, यूपी पुलिस जबरन उठा ले गई शव !

मृतक युवक का नाम जीतलाल गौतम है और वो एक्टिविस्ट सूरज कुमार बौद्ध के चचेरे भाई थे।

174
0
blank
www.theshudra.com

यूपी में दलित समाज के खिलाफ अपराध लगातार जारी हैं। अब जौनपुर से एक दलित युवक की हत्या की खबर आई है। आरोपों के मुताबिक दलित युवक को पीट-पीटकर मौत के घाट उतार दिया गया।

रात से गायब युवक की सुबह मिली लाश

मृतक युवक का नाम जीतलाल गौतम है और वो एंटी कास्ट एक्टिविस्ट सूरज कुमार बौद्ध के चचेरे भाई थे। सूरज ने इस बारे में ट्विटर पर लिखा ‘मेरे चचेरे भाई जीतलाल गौतम की कल रात में पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। वह शाम को घर से निकला था, रात भर गायब रहा और सुबह उसकी लाश मिली। जिला-जौनपुर, थाना-मीरगंज।’

सूरज ने यूपी पुलिस पर भी गंभीर आरोप लगाए हैं। सूरज ने पुलिस पर जबरदस्ती शव को छीनकर ले जाने का आरोप लगाया। उन्होंने लिखा ‘आखिरकार जौनपुर पुलिस ने अपनी शक्ति का प्रदर्शन किया और मेरे भाई के शव को परिजनों से छीनकर लेकर चली गई। निर्मम UP पुलिस!’ 

आरोपियों को जल्द गिरफ्तार करें – चंद्रशेखर 

भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आज़ाद ने जीतलाल गौतम के हत्यारों की जल्द गिरफ्तारी की मांग की है। उन्होंने ट्विटर पर लिखा ‘उत्तर प्रदेश में दलितों का दमन चरम पर है। भाई जीतलाल गौतम की पीट पीटकर की गई हत्या सुरक्षा व्यवस्था पर एक सवाल है। आखिर दलितों की हत्याएं कब तक होंगी ? मुख्यमंत्री जी क्या यही आपका सुशासन है??? आरोपियों को जल्द अरेस्ट कर उन्हें कड़ी सजा दी जाये।’

ऐसे खौफ में समाज जीता रहेगा? – आकाश आनंद

बहुजन समाज पार्टी के नेशनल कॉर्डिनेटर आकाश आनंद ने इस मामले पर योगी सरकार को घेरते हुए सवाल पूछा कि आखिर ऐसा कब तक चलता रहेगा? उन्होंने ट्विटर पर लिखासूरज, ये बेहद दुःखद खबर है,कुदरत आपके भाई को शांति दे। मैं @uppolice से पूछना चाहता हूँ कि क्या उन्होंने प्रशासनिक कार्य करने के संकल्प को छोड़ दिया है? ना आपसे सुरक्षा हो रही है और ना आपका खौफ है मुजरिमों में। क्या ऐसे ही खौफ में हमारा समाज जीता रहेगा?’

यूपी पुलिस ने क्या कहा ?

इस मामले में फिरोज़ाबाद पुलिस की ओर से एक बयान जारी किया गया है। पुलिस के मुताबिक मामले की जांच की जा रही है और जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

यूपी में आखिर ऐसा कब तक चलता रहेगा ?

सोशल मीडिया पर इस हत्या के विरोध में लोगों का आक्रोश फूट पड़ा है। तमाम लोग यूपी में दलितों पर हो रहे उत्पीड़न के खिलाफ लिख रहे हैं। लोग पूछ रहे हैं कि आखिर कब तक यूपी में इस तरह से दलितों का कत्लेआम होता रहेगा ?

  telegram-follow   joinwhatsapp     YouTube-Subscribe

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here