Home Caste Violence दलित छात्रा से छेड़छाड़ का विरोध करने पर जातिवादी गुंडों ने दलित...

दलित छात्रा से छेड़छाड़ का विरोध करने पर जातिवादी गुंडों ने दलित युवक को मारी गोली

एक दलित लड़के को सिर्फ़ इसलिए गोली मार दी गई क्योंकि उसने एक दलित छात्रा से छेड़छाड़ का विरोध किया था।

312
0
blank
अस्पताल में भर्ती पीड़ित पवन और बाहर प्रदर्शन करते ग्रामीण। (फोटो-रजत कलसन)

फतेहाबाद : हरियाणा में एक बार फिर से जातिवादियों के ज़ुल्म की तस्वीरें सामने आई हैं। एक दलित लड़के को सिर्फ़ इसलिए गोली मार दी गई क्योंकि उसने एक दलित छात्रा से छेड़छाड़ का विरोध किया था। मामला हरियाणा के फतेहाबाद ज़िले के जांडली गाँव का है।  आरोपों के मुताबिक़ दलित जाति से आने वाले पवन को गाँव के तीन जातिवादियों ने गोली मार दी। तीनों आरोपी जाट हैं। 

क्या है पूरा मामला ?

पीड़ित पवन की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक़ जांडली कला गाँव के बाहर जाट जाति का एक गुंडा दलित छात्रा से छेड़छाड़ कर रहा था। छात्रा ने जब पवन से मदद माँगी तो पवन ने इसका विरोध किया। आरोप है कि इसी दौरान आरोपी ने अपने दो और साथियों को बुला लिया और पवन के साथ मारपीट के दौरान उसे गोली मार दी। पवन फ़िलहाल अस्पताल में भर्ती है और सर्जरी के ज़रिए उसकी गोली निकाल दी गई है। 

गांव की लड़कियों ने लगाए गंभीर आरोप

जांडली गाँव की रहने वाली लड़कियों का आरोप है कि गाँव में जाट जाति से ताल्लुक़ रखने वाले लड़के अक्सर दलित छात्राओं के साथ छेड़छाड़ करते हैं। महिलाओं का भी ये आरोप है कि खेत में काम करने के लिए जाते वक्त या पानी लेने जाते समय अक्सर उनके साथ बदसलूकी की जाती है। जातिवादी गुंडे टोलियां बनाकर बाइक पर घूमते हैं और उन्हें परेशान करते हैं।

सोशल मीडिया पर साझा किया दर्द 

हरियाणा में दलित अधिकारों की रक्षा के लिए लड़ने वाले एक्टिविस्ट और वकील रजत कलसन ने इस बारे में अपनी फ़ेसबुक वॉल के ज़रिए जानकारी साझा की है। उनके फेसबुक लाइव में गांव की महिलाओं और पुरुषों ने बताया कि कैसे गांव में उन्हें परेशान किया जाता है। रजत ने पीड़ित पवन से भी बात की और उनका केस लड़ने का भरोसा दिलाया। 

हरियाणा में कानून का खौफ नहीं ?

हरियाणा में अक्सर इस तरह के जातिवादी हमले सामने आते रहते हैं। दलितों के ख़िलाफ़ अपराध के मामले में हरियाणा पहले से ही काफ़ी बदनाम है और अब इस मामले ने फिर से खट्टर सरकार की पोल खोल दी है। अब सवाल उठता है कि क्या हरियाणा में जातिवादियों को क़ानून का ख़ौफ़ नहीं है ? 

हरियाणा के फतेहाबाद से विनोद कुमार के साथ, ब्यूरो रिपोर्ट, द न्यूज़बीक 

  telegram-follow   joinwhatsapp     YouTube-Subscribe

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here