Home Caste Violence लखनऊ : मूक-बधिर छात्रा अंजलि यादव की सुसाइड पर बवाल, टीचर पर...

लखनऊ : मूक-बधिर छात्रा अंजलि यादव की सुसाइड पर बवाल, टीचर पर बेहद गंभीर आरोप

पिछले कई दिन से यूनिवर्सिटी कैंपस में छात्र-छात्राएँ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

697
0
blank
पहली तस्वीर - अंजलि यादव, दूसरी तस्वीर - यूनिवर्सिटी के बाहर छात्र (तस्वीरें - अभिषेक)

लखनऊ के डॉ शकुंतला मिश्रा पुनर्वास विश्वविद्यालय में एक मूक-बधिर छात्रा के सुसाइड करने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। पिछले कई दिन से यूनिवर्सिटी कैंपस में छात्र-छात्राएँ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। कैंपस को छावनी में तब्दील कर दिया गया है।

पंखे से लटका मिला अंजलि यादव का शव 

यूनिवर्सिटी के गर्ल्स हॉस्टल में 3 सितंबर को शाम 7:45 बजे बी.एड. स्पेशल एजुकेशन की छात्रा अंजलि यादव का शव पंखे से लटका मिला था। पुलिस के मुताबिक छात्रा ने सुसाइड कर ली थी। वहीं छात्रों का आरोप है कि यूनिवर्सिटी के ही अर्जुन नाम के टीचर की प्रताड़ना की वजह से तंग आकर अंजलि ने अपनी जान दे दी। छात्रों का आरोप है कि मूक-बधिर अंजलि को आरोपी टीचर जान-बूझकर लगातार फेल कर रहे थे।

आरोपी टीचर की गिरफ्तारी की मांग 

शकुंतला मिश्रा यूनिवर्सिटी, लखनऊ यूनिवर्सिटी और बाबा साहब भीमराव यूनिवर्सिटी के छात्र और छात्र संगठन आरोपी टीचर की गिरफ्तारी की मांग को लेकर पिछले तीन दिन से प्रदर्शन कर रहे हैं लेकिन अभी तक आरोपी टीचर के खिलाफ ना ही केस दर्ज़ किया गया है और ना ही उन्हें गिरफ्तार किया गया है।

प्रदर्शनकारी छात्रों पर ही दर्ज़ हुआ केस 

यूपी पुलिस ने प्रदर्शनकारी छात्रों पर ही तोड़-फोड़ और हिंसा भड़काने का आरोप लगा केस दर्ज़ कर लिया है। टाइम्स नेटवर्क की खबर के मुताबिक पुलिस ने 150 छात्रों के खिलाफ केस दर्ज़ कर लिया है। कैंपस के सभी गेट बंद कर दिए गए हैं और कैंपस को छावनी में तब्दील कर दिया गया है।

छात्रों ने शिक्षकों पर लगाए गंभीर आरोप

द शूद्र से बातचीत में यूनिवर्सिटी के छात्रों ने शिक्षकों और यूनिवर्सिटी प्रशासन पर बेहद गंभीर आरोप लगाए हैं। छात्रों का आरोप है कि ज्यादातर शिक्षक Specially Abled छात्रों के साथ बदसलूकी करते हैं और उनका मनोबल तोड़ते हैं। छात्रों ने हमें बताया कि अक्सर शिक्षक विकलांग बच्चों के साथ बुरा बर्ताव करते हैं।

आरोप बेहद गंभीर, कब होगी गिरफ्तारी ?

यूनिवर्सिटी के छात्रों के आरोप बेहद गंभीर हैं, ऐसे में सवाल उठता है कि आरोपी टीचर अर्जुन की गिरफ्तारी कब होगी? सवाल तो ये भी है कि आखिर कब तक दलित-बहुजनों के बच्चे कैंपस में चल रही जनेऊलीला का शिकार होते रहेंगे ?

  telegram-follow   joinwhatsapp     YouTube-Subscribe

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here