Home Caste Violence हरियाणा में 150 दलित परिवारों के बहिष्कार के मामले में SC कमीशन...

हरियाणा में 150 दलित परिवारों के बहिष्कार के मामले में SC कमीशन ने लिया संज्ञान, हरियाणा पुलिस से मांगा जवाब

करीब 150 दलित परिवारों के सामाजिक बहिष्कार के मामले में राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग ने संज्ञान लिया है।

561
0
blank
www.theshudra.com

हरियाणा के जींद ज़िले के छात्तर गांव में जाटों द्वारा करीब 150 दलित परिवारों के सामाजिक बहिष्कार के मामले में राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग ने संज्ञान लिया है। आयोग ने हरियाणा पुलिस के डीजीपी से इस बारे में रिपोर्ट मांगी है। 

ट्वीट पर लिया आयोग ने संज्ञान

दरअसल हमारे फाउंडिंग एडिटर सुमित चौहान ने ट्विटर के माध्यम से इस खबर को साझा किया था। सुमित चौहान ने लिखा था ‘हरियाणा के छात्तर गाँव में जाटों ने दलितों का सामाजिक बहिष्कार कर दिया है। आरोप है कि एक दलित शख़्स के साथ मारपीट के बाद SC-ST एक्ट में दर्ज हुए मामले को वापस लेने का फ़रमान पंचायत ने सुनाया था। जब पीड़ित ने केस वापस लेने से मना किया तो पूरे दलित मोहल्ले का हुक्का-पानी बंद किया।

ये गाँव उचाना विधानसभा सीट के अंतर्गत है और हरियाणा के डिप्टी सीएम @Dchautala यहाँ से विधायक हैं। इससे पहले इसी इलाक़े के खाप्पड़ गाँव में भी दलितों ने बहिष्कार के बाद गाँव छोड़ दिया था। यहाँ लगातार दलित उत्पीड़न की वारदातें हो रही हैं।

ये मामला बेहद गम्भीर है। हरियाणा पुलिस तुरंत इस मामले में कार्रवाई करें। पीड़ितों को सुरक्षा मुहैया कराई जाए और दोषियों पर सख़्त कार्रवाई हो।

तुरंत कार्रवाई करे हरियाणा पुलिस – विजय सांपला

सुमित चौहान के इस ट्वीट पर संज्ञान लेते हुए राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष विजय सांपला ने हरियाणा पुलिस से जवाब तलब किया है। उन्होंने ट्विटर पर लिखा ‘हरियाणा के @DGPHaryana @police_haryana इस घटना को संज्ञान लेकर तुरंत कार्रवाई करे और की गई कारवाई की सूचना @NCSC_GoI को दें।

कबड्डी मैच के दौरान हुई थी मारपीट

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक 10 सितंबर को गांव में एक कबड्डी मैच के दौरान गुरमीत नाम के दलित युवक से साथ सवर्णों ने मारपीट की थी। आरोप है कि गुरमीत को दलित कहकर मैच देखने से रोका गया था और विरोध करने पर मारपीट की गई। इसी मामले में जब पीड़ित ने एससी-एसटी एक्ट में मामला दर्ज कराया तो पंचायत ने पूरी दलित बस्ती के सामाजिक बहिष्कार का एलान कर दिया।

  telegram-follow   joinwhatsapp     YouTube-Subscribe

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here